फर्रीसेमर के जंगल में शिकार के लिए लगाए करंट से युवक घायल

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

वनविभाग ने पकड़े दो आरोपी तीन हुए फरार,पहले भी एसटीएफ ने पकड़े रहे तेंदुआ की खाल के साथ आरोपियों को*

अमरकंटक ।  वनों से घिरे पवित्र नगरी अमरकंटक के वन परिक्षेत्र क्षेत्र के दमगढ बीट के फर्रीसेमर के जंगल मे विगत दिनों शिकारियों द्वारा जंगली जानवर के शिकार के लिए जंगल के अंदर जी,आई,तार से करंट फैलाया रहा है जिसके चपेट में आने से फर्रीसेमर गांव का एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया रहा जिसे प्राथमिक उपचार बाद बेहतर उपचार हेतु जिला चिकित्सालय अनूपपुर में भर्ती कराया गया है जहां उसका उपचार चल रहा है वहीं घटना की जानकारी पर अमरकंटक वन विभाग द्वारा जंगल में अनाधिकृत रूप से जी,आई,तार से करंट फैला कर शिकार करने के प्रयास करने के आरोप में दो आरोपियों को सामग्री सहित गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश करने के बाद जेल भेजा है जबकि तीन आरोपी फरार हो गए हैं जिनकी तलाश की जा रही है।
ज्ञातव्य है कि वनविभाग की जबलपुर स्थित एसटीएफ टीम द्वारा विगत तीन-चार वर्षो के मध्य डिंडोरी जिले में मुखविरों की सूचना पर वन्यप्राणी तेंदुआ के साथ अन्य वन्य प्राणियों की खाल एवं सामग्री जप्त की रही जिसमें वन परिक्षेत्र अमरकंटक,राजेंद्रग्राम एवं अहिरगवा के अनेकों आरोपी गिरफ्तार किए गए रहे जिसमें वन परिक्षेत्र अमरकंटक के दमगढ़ एवं इससे लगे अन्य वन बीटो के ऐसे ग्रामीण जो आदतन शिकार के आदी हैं को पकड़ा गया रहा इसके बाद भी वनविभाग का अमला अवैध शिकार को रोकने में वर्तमान समय तक पूरी तरह नाकाम नजर आ रहा है जिस कारण ही शिकारियों के खुलेआम हौसले बढे हुए हैं जिससे वह बगैर किसी डर के निरंतर शिकार करने में सम्मिलित हैं।
विवरण में मिली जानकारी के अनुसार 23 मार्च की सुबह अमरकंटक थाना अंतर्गत एवं वन परिक्षेत्र अमरकंटक के दमगढ बीट अंतर्गत फर्रीसेमर गांव के 29 वर्षीय धनसिंह पिता अजरू सिंह बैगा जो लकड़ी लेकर गांव से पगडंडी रास्ता होकर पोंडकी की ओर आ रहा था तभी अचानक जंगल के अंदर कक्ष क्रमांक पी,एफ,219 में अज्ञात शिकारियों द्वारा जंगली जानवरों के शिकार के उद्देश्य से जंगल के अंदर कई हिस्सों में जी,आई,तार बांस की खूंटी से बिजली तार से करंट फैलाया रहा है जिसकी चपेट में आने से धनसिंह बुरी तरह घायल हो गया रहा जिसे अमरकंटक में प्राथमिक उपचार बाद बेहतर उपचार हेतु जिला चिकित्सालय अनूपपुर में भर्ती कराया गया है घटना की सूचना पर वन मंडलाधिकारी अनूपपुर के निर्देश पर अमरकंटक वनविभाग द्वारा जांच की गई जिस पर करंट लगाए जाने वाले दो आरोपी सुद्थू सिंह गोंड एवं कृष्णा पिता रामलाल चौधरी दोनों निवासी हर्राटोला थाना अमरकंटक को बांस की खूटी,जी,आई,तार एवं बांस की ढगनी के साथ गिरफ्तार कर न्यायालय में प्रस्तुत किया है घटना में सम्मिलित तीन अन्य आरोपी फरार बताए गए हैं जिनकी तलाश की जा रही है न्यायालय के आदेश अनुसार आरोपियों को जेल भेजा गया है वही ग्राम पंचायत हर्राटोला सरपंच के हस्तक्षेप से पुलिस थाना अमरकंटक में भी घटना की जानकारी दिए जाने पर पुलिस द्वारा अज्ञात आरोपियों के विरुद्ध अपराध दर्ज कर जांच कर रही है।

Leave a Comment

[democracy id="1"]