शिवराज की पत्नी को धारिया बाबू ने किया गुमराह अपनो के नाम कराया जमीन का पंजीयन

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

अपनो के नाम कराया जमीन का पंजीयन
आपराधिक मामला कायम करने की मांग
अनूपपुर। जिला अंतर्गत कोतमा तहसील में स्थित ठोड़हा ग्राम पंचायत निवासी चमाना बाई पति शिवराज सिंह द्वारा कलेक्टर अनूपपुर को शिकायत पत्र देते हुए तहसील कोतमा में पदस्थ धारिया बाबू से अपनी जमीन वापिस कराने कि मांग की है पीड़िता ने उक्त बाबू पर बहुत गंभीर आरोप लगाए हैं उसने बताया कि मेरे पिता की सम्मिलित भूमि थी जिसमें हम लोग अपने-अपने भूमि का विभाजन करने हेतु तहसील कार्यालय आए थे तब तहसील के बाबू से पट्टा विभाजन की बात की बाबू का कहना यह था कि मैं साहब से बोलकर डायरेक्ट विभाजन कर दूंगा हम लोग उसके बातों में आकर उसे विभाजन के संपूर्ण दस्तावेज दे दिए बाबू द्वारा धोखाधड़ी कर हमारे आराजी खसरा नंबर 908 रखवा 0.120 हेक्टर जिसे रजिस्ट्री मोहन सिंह पिता बाल करण सिंह गोंड निवासी मनमारी थाना तहसील कोतमा जिला अनूपपुर मध्य प्रदेश व एवं खसरा नंबर 909 के रकवे में से 0.102 हेक्टर को गौतम कुमार पिता रंजन लाल निवासी बसनिहा पुष्पराजगढ़ जिला अनूपपुर मध्य प्रदेश रजिस्ट्री करा ली गई है जो कि मेरी जानकारी में नहीं थी। उक्त भूमि को अपने पारिवारिक विभाजन करने हेतु – सह खातेदारों को विश्वास में लेते हुए हमारे सभी दस्तावेज रख लिए गए एक सप्ताह बाद आने का समय दिया गया उपयुक्त समय पर आने पर तहसील न्यायालय में मौजूद रजिस्टार ऑफिस में जिसकी जानकारी हमें बाद में मिली हमें ले जाकर फोटो खिंचवा कर व कंप्यूटर में हस्ताक्षर लेकर हमें वापस भेज दिया गया हमें यह बताया गया कि आपका पारिवारिक विभाजन हो गया है आप जाइए तब सभी वहां से अपने घर वापस चले गए थे वही कुछ दिन पश्चात हमारे गांव के लोगों द्वारा कहे जाने पर कि आप अपने जमीन बेच दिए हो हमारे द्वारा विक्रय नहीं किया गया यह बात कहते हुए यह शंका उत्पन्न हुई तब हम दूसरे दिन दस्तावेज को देखने पर यह जानकारी मिली व रजिस्ट्रार कार्यालय जाकर पूछताछ करने पर जानकारी हुई कि हमारी भूमि की रजिस्ट्री अन्य पक्ष में कर ली गई है दो अन्य लोगों के नाम भूमि रजिस्टर होकर नामांतरण हो गया है हमारे गांव में कालरी (कोयला खदान) खुलने वाली है इसलिए हम लोग अपने-अपने परिवार में विभाजन करवाने गए थे हम लोगों के साथ धोखा धड़ी कर हमारे जमीन का अपने लोगों के नाम से रजिस्ट्री करवा लिए हैं जानकारी लगने पर की बिना बेचे बिना कोई पैसा लिए जमीन
की रजिस्ट्री भी हो गई और नामांतरण भी तब हमारे द्वारा श्रीमान अनुविभागी अधिकारी कोतमा पुलिस थाना कोतमा कलेक्टर महोदय अनूपपुर को आवेदन देते हुए मे अपनी शिकायत में कार्यवाही की मांग पीड़िता ने की है

Leave a Comment

[democracy id="1"]