आबादी के पास ही लगा दिया कचड़े का पहाड़

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

नगर परिषद मानपुर की मनमानी

तालाब सहित भडारी नदी में भी बहता है कचड़ा

उमरिया। रामकृपाल विश्वकर्मा। उमरिया जिले के मानपुर एक तरफ जहां देश के प्रधानमंत्री सहित प्रदेश के मुखिया स्वच्छता और जल संवर्धन को लेकर रोज नित नए आदेश एवम योजनाएं पर्यावरण को सुरक्षित रखने के लिए और नदियों तालाबों में जल संवर्धन साफ सफाई सहित अनेकों प्रयास किए जा रहे है वही देखा जाए तो मानपुर नगरपरिषद के जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा नगर से निकल रहे कचरे को मनमानी पूर्ण गैर जिम्मेदाराना रवैया से वार्ड 05में प्रस्तावित भूमि को छोड़कर आबादी के पास कचरे का संधारण करा रहे है

*नए तालाब भी हो रहा कचरे से प्रभावित*
बता दे की पूर्व की ग्राम पंचायत मानपुर द्वारा मानपुर महाविद्यालय के पास शासकीय आराजी खसरा नंबर 2 में 13 लाख की लागत से तालाब का निर्माण कराया गया था जिसके आस पास चारो तरफ नगर परिषद का कचरे का ढेर लगा हुआ है हवा चलने पर सारा कचरा उड़ कर नए तालाब में जा रहा है जो की स्वच्छता के प्रति नगर परिषद की सोच को स्पष्ट करता है साथ ही बगल से भदारी नदी भी निकलती है और नगर परिषद का डंपिंग किया हुआ कचरा नदी में भी उड़ कर एवम बरसात में बह कर जा रहा है
*स्थानीय रहवासियों का गंदगी से हो रहा बुरा हाल*
नगर परिषद द्वारा कचड़ा की डंपिंग आबादी छेत्र में किया जा रहा है 100 मीटर के दायरे में ही 40 घरों की बस्ती है जिनका गंदगी से जीना मुहाल हो गया है स्थानीय रहवासियों द्वारा बताया गया की कचरे की गंदगी के कारण हम लोग कई बार काफी बीमार हो चुके है यह पर नगर परिषद की गाड़ियों में कचरा सहित मवेशियों को भी फेंक दिया जाता है जिसकी दुर्गंध महीनो रहती है महिलाओं ने बताया की छोटे छोटे बच्चे उसी कचरे में जा कर खेलते है और बीमार होते है दिन भर घर में कचरे के ढेर से पन्नी उड़ कर घर में अति है जिसकी शिकायत कई बार नगर परिषद और 181 में की गई लेकिन परिषद के लोग आ कर यह बोल कर शिकायत कटवा देते है की हम कचरा यहां से हटवा देंगे और आज तक हम गंदगी के बीच रह रहे है
*महाविद्यालय के बच्चो ने किया था कचरे के खिलाफ आंदोलन परिषद् में आ कर दिया था ज्ञापन*
बता दे की 1 वर्ष पहले महाविद्यालय मानपुर के छात्र-छात्राओं ने भी महाविद्यालय के बगल में फेक जा रहे नगर परिषद के कचरे को खिलाफ मोर्चा खोल दिया था साथ ही एकत्रित होकर नगर परिषद में ज्ञापन भी दिया था की महाविद्यालय के आसपास से नगर परिषद के कचरे के डंपिंग का कार्य बंद किया जाए लेकिन आज भी नगर परिषद द्वारा गैर जिम्मेदार आना तरीके से कचरे के डंपिंग का कार्य महाविद्यालय के पास ही किया जा रहा है
आखिर प्रस्तावित भूमि पर क्यों नहीं फेंका जा रहा कचरा
बता दे की पटवारी हल्का कछौहा के ग्राम दुलहरा के शासकीय आराजी खसरा नंबर 149/१नगर परिषद के कचरा संवर्धन संयंत्र के लिए आरक्षित किया गया है जो की करोड़ों का प्रोजेक्ट है लेकिन ग्राम पंचायत कछौहा से एनओसी न मिलने की वजह से कचरा संवर्धन संयंत्र का प्रोजेक्ट का कार्य नहीं हो पा रहा है और आलम यह है की नगर परिषद मानपुर के कचरा से कई लोगों के लिए खराब स्वास्थ व नदी तालाबों के लिए खतरा साबित हो रहा है

Leave a Comment