रेत से लदी ओवरलोड हाईवा को ग्रामीणों ने रोका

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं


अनूपपुर। जिले में चल रही रेत खदान संचालन के साथ जिला मुख्यालय के अलग-अलग खदानों में विवाद की स्थिति आए दिन देखी जा रही है ऐसा ही एक मामला पसला में देखने को मिला है जहां पर गांव के भीतर की सड़कों पर भारी वाहन फर्राटा मार रहे हैं जिसके चलते गांव की सड़के टूट रही है इसी बात को लेकर बीते दिन ग्राम पंचायत पसला में ग्रामीणों के द्वारा मौके पर विरोध किया गया और वाहनों को रोका गया। वहीं मौके पर पहुंची प्रशासन टीम के द्वारा वाहनों को न रोकने की बात ग्रामीणों से कही गई लेकिन विवाद की स्थिति आए दिन बनी रहती है।
जिला मुख्यालय से लगभग 10 किलो मीटर की दूरी में ग्राम पंचायत पसाला में 6 जून दिन गुरुवार को ग्रामीणों के द्वारा रेत से लदी ओवर लोड हाइवा को गांव के अंदर की खड़ी करा लिया गया था।
इसका मुख्य कारण ओवर लोड गाड़िया चलने से सड़क समय से पहले टूट गई। ग्रामीणों के द्वारा विरोध को रोकने पहुंचे खनिज अधिकारी, तहसीलदार एवं कोतवाली थाना पुलिस के बाद रेत से लदी ओभार लोड़ ट्रको को जबरजस्ती निकाला गया।
सरपंच ने बताया की ओवरलोड हाईवे ट्रक के निकलने से हमारे पंचायत की रोड खराब हो रही है।
हाईवा गाड़ी इतनी भारी होती है कि रोड फट रही हैं और रेत से लगी ट्रक को तिरपाल से ढाका भी नहीं जाता है जबकि कलेक्टर का सख्त आदेश है कि रेत लड़ी ट्रक को तिरपाल से ढाका होना चाहिए फिर भी रेत ठेकेदार ऐसा नहीं किया जा रहा है।
जानकारों की माने तो रेत ठेकेदार एसोसिएट कॉमर्स के द्वारा भंडारण के लिए पसला लाई जा रही है लेकिन जिस मार्ग का इस्तेमाल किया जा रहा है वह कहीं से उचित नहीं है और न ही खनिज विभाग के रूट में शामिल है ठेकेदार के द्वारा जानबूझकर अपनी मनमानी करते हुए ग्रामीण सड़कों को नुकसान पहुंचा कर करोड़ों की कमाई करने के फिराक में है लेकिन ग्रामीण के द्वारा लगातार इस बात का विरोध किया जा रहा है उनका कहना है कि काम सरकारी नियमों से होना चाहिए न की मनमर्जी से।

Leave a Comment

[democracy id="1"]