छिंदवाड़ा से कमलनाथ का एक विकट और उड़ा

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

बीजेपी कमलनाथ के किले को ढहा कर रहेगी

छिंदवाड़ा। लोकसभा चुनाव में बीजेपी कांग्रेसियों को लगातार बीजेपी में शामिल कर रही है लेकिन सत्ताधारी पार्टी की नजर कमलनाथ के कट्टर समर्थकों पर है , बीजेपी ने छिंदवाड़ा महापौर के साथ निगम के अन्य नेताओं को भी बीजेपी में शामिल कर लिया है।

जिस छिंदवाड़ा महापौर विक्रम अहाके की राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने तारीफ की उसका आज कांग्रेस से मोहभंग हो गया ।इन्होंने भोपाल में सीएम निवास में जाकर बीजेपी की सदस्यता ली और अपने साथ सभा पति प्रमोद शर्मा भी शामिल हो गया ।

अमित शाह के दौरे पर बीजेपी कांग्रेस को बड़े झटके दे सकती है

अमित शाह भी छिंदवाड़ा आ रहे हैं और माना जा रहा है कि उनके सामने छिंदवाड़ा से वर्तमान विधायकों में से कई और विधायक उनके सामने बीजेपी के सदस्य लेंगे

बीजेपी का फोकस छिंदवाड़ा पर

बीजेपी छिंदवाड़ा के जरिए कमलनाथ पर निशाना साध रही है और उनके करीबी और खासी समर्थ को को बीजेपी में शामिल कर कर उनको एक बड़ा झटका दे रही है कुछ दिन पहले उनकी राइट हैंड दीपक सक्सेना और उनके बेटे ने बीजेपी ज्वाइन की इसके बाद उनके करीबी विधायक शाह ने भी कांग्रेस को अलविदा कह दिया।अमरवाड़ा से विधायक कमलेश प्रताप शाह ने भोपाल में अपने समर्थकों के साथ बीजेपी का दामन थामा ।

छिंदवाड़ा!

स्लग – महापौर विक्रम अहाके भाजपा में शामिल,बदला निगम का गणित.

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के गढ़ में भाजपा की एक और सेंध, महापौर बीजेपी में शामिल

एक सभापति के साथ छिंदवाड़ा नगर निगम के महापौर विक्रम अहाके ने बीजेपी ज्वाइन की

सभापति व पार्षद प्रमोद शर्मा ने भी थामा बीजेपी का दामन

दल बदल का छिंदवाड़ा में पड़ेगा असर –

छिंदवाड़ा पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ का गढ़ और मध्य प्रदेश की सबसे हाई प्रोफाइल सीट होने के कारण काफी चर्चा में रहती है लगातार भाजपा में कांग्रेस नेता विधायक और कार्यकर्ताओं के शामिल होने के कारण लगातार कमलनाथ को कई झटके लग रहे हैं जिससे यहां कहां जा सकता है कि अब कमलनाथ को एड़ी चोटी का जोर लगाना के बावजूद भी, जीत किसकी होगी यहां अंदाज लगाना अब मुश्किल है.

वर्तमान में छिंदवाड़ा नगर निगम की स्थिति –

कुल नगर निगम पार्षदों की संख्या 48 में से भाजपा के पास 34, और कांग्रेस के पास 14 पार्षद है हालांकि पहले भाजपा के सिर्फ 20 पार्षद थे वही 14 पार्षद कांग्रेस के शामिल हुए हैं

कमलनाथ के गढ़ छिंदवाड़ा में भाजपा ने एक और सेंध लगाई है। यहां नगर निगम के महापौर विक्रम आहाके ने भोपाल में मुख्यमंत्री और प्रदेश के अध्यक्ष बीडी शर्मा के समक्ष भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली। महापौर अपने एक साथी सभापति प्रमोद शर्मा के साथ भाजपा में शामिल हुए हैं।

महापौर विक्रम अहाके कांग्रेस से महापौर बने थे और वह रविवार की रात में ही भोपाल पहुंच गए थे। सोमवार की सुबह प्रदेश भाजपा कार्यालय में महापौर विक्रम महक ने अपने साथी पार्षद व सभापति प्रमोद शर्मा के साथ भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली। छिंदवाड़ा में लगातार कांग्रेसी नेताओं का भाजपा में शामिल होने का सिलसिला जारी है आज फिर भाजपा ने एक और सेंध लगाकर लोकसभा चुनाव में कमलनाथ को चुनौती दी है।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और किसान के पुत्र है विक्रम आहाके –

विक्रम अहाके छिंदवाड़ा जिले के राजाखोह गांव के रहने वाले हैं. उनके पिता नरेश अहाके किसान हैं और मां निर्मला आंगनबाड़ी कार्यकर्ता हैं, विक्रम सिर्फ 30 साल की उम्र के छिंदवाड़ा के महापौर बने. कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीतने वाले विक्रम ने ग्रेजुएशन किया है और खेती-किसानी उनका मुख्य पेशा रहा है. विक्रम अहाके कांग्रेस आदिवासी प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष भी रहे थे.

छिंदवाड़ा को प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ का गढ़ कहा जाता है और एक लंबे अंतराल के बाद छिंदवाड़ा महापौर पद पर कांग्रेस ने एक बड़ी जीत दर्ज की थी . कांग्रेस की यह 18 साल बाद जीत हुई है. इस चुनाव में कांग्रेस के विक्रम अहाके ने भाजपा प्रत्याशी अंनत धुर्वे को विक्रम ने 3786 मतों से हराया है. जहां विक्रम को 64363 मत प्राप्त हुए, तो वहीं 60577 वोट अनंत धुर्वे को मिले. छिंदवाड़ा में कुल मतों की संख्या 130907 थी,

Leave a Comment

[democracy id="1"]