निगवानी कोठी के जंगलों में धड़ल्ले से सज रहा है शिवा के जुएं का फड़

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

कोठी का भूरा एवं कोतमा के शिवा की जोड़ी कोठी के जंगलों में नचा रही है बावनपरी

क्षेत्र के युवाओं का भविष्य गर्त में ले जाने का किया जा रहा है प्रयास

कोतमा। अनूपपुर जिले के कोतमा क्षेत्र में जुएं के फड़ों का संचालन आम हो चला है और शहरी इलाकों और ग्रामीण क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर बावनपरी का खेल जारी है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार भूरा और शिवा की जोड़ी ने कोठी के जंगलों में जुएं का फड़ सजा कर युवाओं का भविष्य गर्त में ले जाने का कार्य धड़ल्ले से कर रहे हैं। कोठी के जंगलों में आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों के अतिरिक्त कोतमा एवं बिजुरी सहित अन्य क्षेत्रों के लोग इस खेल में शरीक होते हैं और अपना भाग्य आजमाने लाखों का दांव लगाते आजमाने लाखों का दांव हैं। सूत्रों की मानें तो क्षेत्र के युवाओं को समेट कर जंगल में
52 परी का गेम सजाया जा रहा है एवं पुलिस के साथ आंख
मिचौली का खेल खेला जा रहा है। इस अवैध कार्य में संलिप्त युवाओं का भविष्य गर्त में जा रहा है। पूर्व में पुलिस के द्वारा समूचे जिले में अभियान चला कर जुआरियों के विरुद्ध कार्यवाही की गई थी और क्षेत्र की जनता एक बार फिर उसी प्रकार की कार्यवाही के लिए पुलिस प्रशासन से आस लगा रखी है।

Leave a Comment

[democracy id="1"]