अमरकंटक में राज्य मंत्री ने “जल गंगा संवर्धन” अभियान के समापन समारोह को किया संबोधित

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

 

जीवन और प्रकृति के संरक्षण के लिए नदियों को अविरल और पवित्र रखना ज़रूरी- राज्य मंत्री श्री दिलीप जायसवाल*

वृक्ष एवं जल के बिना, जीवन संभव नहीं- राज्य मंत्री श्री दिलीप जायसवाल

नर्मदा तट पर हुई महाआरती , कुटीर एवम् ग्रामोद्योग राज्य मंत्री , जिला पदाधिकारी सहित संत व नगर जनमानस हुए सम्मिलित* ।

अमरकंटक। श्रवण उपाध्याय। मां नर्मदा जी की उद्गम स्थली / पवित्र नगरी अमरकंटक में आज 16 जून 2024 को मध्य प्रदेश शासन के कुटीर एवं ग्रामोद्योग राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री दिलीप जायसवाल ने कहा है कि जल स्रोतों का संरक्षण कर हम आने वाली पीढ़ी को धरोहर संजोकर दे रहे हैं । प्रकृति और जीवन का वैंसा ही संबंध है, जैंसे संतान और मां का है । यदि हम प्रकृति और नदियों की उपेक्षा करेंगे तो हमारा जीवन भी निर्जल होगा। हमें अपने जीवन के लिए नदियों को अविरल और पवित्र रखना होगा । उन्होंने कहा कि नर्मदा नदी , गंगा नदी से भी प्राचीन है , इसके कण-कण में शंकर का वास है । इसका देश एवं मध्य प्रदेश में विशेष महत्व है । उन्होंने कहा कि हम सब को मिलकर ऐसा प्रयास करना होगा कि प्राकृतिक का रूप जैसा पहले था , वैसा हमेशा बना रहे । कुटीर एवं ग्रामोद्योग राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री दिलीप जायसवाल आज अनूपपुर जिले के अमरकंटक में जल गंगा संवर्धन अभियान के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे।

स्वच्छ एवं साफ रखने का जो अभियान चलाया गया, वह अभूतपूर्व

राज्य मंत्री श्री दिलीप जायसवाल ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव द्वारा जल गंगा संवर्धन अभियान के तहत प्रदेश के सभी जल स्रोतों को स्वच्छ एवं साफ रखने का जो अभियान चलाया गया, वह अभूतपूर्व है। अनूपपुर जिला सहित संपूर्ण प्रदेश के प्राचीन से प्राचीन जल स्रोतों का संरक्षण एवं संवर्धन किया गया। यह कार्य लगातार जारी रहेगा। उन्होंने सभी को गंगा दशहरा की पावन पर्व पर शुभकामनाएं देते हुए कहा कि गंगा दशहरा का यह पावन अवसर है । शासन द्वारा तय किया गया था कि पर्यावरण दिवस 5 जून से गंगा दशहरा तक हमारे नदी, कुएं, पोखर, तालाब, झरने आदि जल स्रोतों के साथ हमारी ऐतिहासिक धरोहर, बावड़ियों के संरक्षण और संवर्धन का काम किया गया।

जल है तो जीवन है, वन है तो कल है

राज्य मंत्री श्री दिलीप जायसवाल ने कहा कि मुझे बताते हुए खुशी है कि जल गंगा संवर्धन अभियान सफल रहा है। उन्होंने कहा कि वृक्ष एवं जल के बिना जीवन संभव नहीं है। इसलिए हमें वृक्ष और जल का संरक्षण एवं संवर्धन करना होगा। उन्होंने कहा कि मनुष्य ने इन नदियों के प्रति जो उपेक्षा पूर्ण रवैया अपनाया है, वह बहुत ही खतरनाक है। हमें अपने आने वाली पीढ़ियों के लिए इन्हें जीवंत बनाना होगा। जल है तो जीवन है, वन है तो कल है। उन्होंने कहा कि कोई भी कार्य अकेले सरकार नहीं कर सकती, इसके लिए हम सभी को आगे आना होगा। उन्होंने कहा कि जल गंगा संवर्धन अभियान के अंतर्गत सभी सभी ने अपनी भागीदारी निभाई, इस कारण से जल गंगा संवर्धन अभियान सफल हो पाया है।

दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत

कार्यक्रम का शुभारंभ राज्य मंत्री श्री दिलीप जायसवाल जी ने मां नर्मदा जी की तस्वीर पर पुष्प अर्पण कर नर्मदा जी के दक्षिण तट समक्ष दीप प्रज्वलित कर किया । इस दौरान शांति कुटी आश्रम के श्री महंत स्वामी राम भूषणदास जी महाराज , कल्याण सेवा आश्रम से धर्मानंद जी महाराज एवं परमहंस धारकुंडी आश्रम के स्वामी लवलीन महाराज ने भी दीप प्रज्वलित किया और मां नर्मदा जी को धूप दीप से आरती कर मंचीय कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया ।

राज्य मंत्री ने निबंध एवं चित्रकला प्रतियोगिता के प्रतिभागी छात्राओं को किया पुरस्कृत

मध्य प्रदेश शासन की कुटीर एवं ग्रामोद्योग राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री दिलीप जायसवाल ने “जल गंगा संवर्धन” अभियान के समापन समारोह में निबंध प्रतियोगिता में प्रतिभागी छात्रा कु. वंशिका सारीबान प्रथम, कु‌. रीति टांडिया द्वितीय, कु. दुर्गेश्वरी चंदेल तृतीय एवं चित्रकला प्रतियोगिता में कु. गीतिका तवर प्रथम, कु. ऐश्वर्या सिंह चौहान द्वितीय एवं कु. परी गुप्ता तृतीया को शील्ड एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।

राज्य मंत्री ने एनजीओ संस्थान का किया सम्मान

मध्य प्रदेश शासन की कुटीर एवं ग्रामोद्योग राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री दिलीप जायसवाल ने समापन समारोह में “जल गंगा संवर्धन” अभियान के तहत वैतरणी सरोवर, लक्ष्मी सरोवर एवं कपिला सरोवर में श्रमदान करने वाले वतन सेवा समिति, फलक सेवा समिति एवं मां नर्मदा नदी संरक्षण ग्राम पर्फुटन समिति अमरकंटक को शील्ड एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।

राज्य मंत्री श्री दिलीप जायसवाल ने किया पौधारोपण

मध्य प्रदेश शासन की कुटीर एवं ग्रामोद्योग राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री दिलीप जायसवाल ने आज जल गंगा संवर्धन अभियान के समापन अवसर पर अमरकंटक के रामघाट दक्षिण तट में पौधारोपण कर प्रकृति के संवर्धन एवं संरक्षण का संदेश दिया। इस दौरान कलेक्टर श्री आशीष वशिष्ठ, अपर कलेक्टर श्री अमन वैष्णव , पुष्पराजगढ़ एस डी एम श्री सुधाकर सिंह बघेल , पुष्पराजगढ़ तहसीलदार श्री अनुपम पांडेय , अमरकंटक नायब तहसीलदार श्री कौशलेंद्र मिश्रा सहित संत , जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों ने 155 पौधो का रोपण किया गया । इस दौरान राज्य मंत्री ने कहा कि पौधों का रोपण करने से ज्यादा जरूरी पौधों का संरक्षण करना है । उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि सभी लोग अपने घर के शुभ अवसर पर पौधारोपण अवश्य करें , क्योंकि जल एवं वृक्ष के बिना कोई भी शुभ कार्य पूर्ण नहीं होता है।

नर्मदा नदी के दक्षिण तट पर की गई मां नर्मदा जी की महाआरती

जल गंगा संवर्धन अभियान के अंतिम दिवस पर पधारे राज्य मंत्री श्री दिलीप जैसवाल जी की उपस्थिति में सर्व प्रथम अमरकंटक पहुंचने पर उनके करकमलों द्वारा वृक्षा रोपण किया गया उसके बाद मंचीय कार्यक्रम में उपस्थित संतो को शाल श्रीफल भेंट कर मंत्री जी सभी को संबोधन किया और कहा की सभी को वृक्ष लगाना ही चाहिए । उसके बाद मां नर्मदा जी की महाआरती में सम्मिलित हुए फिर वे अमरकंटक से अपने गंतब्य की ओर रात्रि आठ बजे निकल गए ।

जल गंगा संवर्धन अभियान के समापन कार्यक्रम में अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पुष्पराजगढ़ श्री सुधाकर सिंह बघेल, पुष्पराजगढ़ तहसीलदार श्री अनुपम पांडेय , अमरकंटक नायब तहसीलदार श्री कौशलेंद्र मिश्रा , नगर परिषद अध्यक्ष अमरकंटक श्रीमती पार्वती सिंह उइके , उपाध्यक्ष एडवोकेट रज्जू सिंह नेताम , मुख्य नगर पालिका अधिकारी अमरकंटक श्री चैन सिंह परस्ते , उपयंत्री श्री देवल सिंह बघेल , संत शांति कुटी के श्रीमहंत स्वामी रामभूषण दास जी , कल्याण सेवा आश्रम के स्वामी धर्मानंद जी , परमहंस धारकुंडी आश्रम से स्वामी लवलीन महाराज , अमरकंटक भाजपा मंडल अध्यक्ष रोशन पनारिया , सांसद प्रतिनिधि प्रकाश द्विवेदी , विधायक प्रतिनिधि व पार्षद शक्तिशरण पांडेय , जोहान लाल चंद्रवंसी , दिनेश द्विवेदी , कान्हा तिवारी , देवानंद खत्री , सुखनंदन सिंह , श्रीमती सावित्री बाई , अंबिका प्रसाद तिवारी , श्रीमती अंजना कटारे , श्रीमती बबिता सिंह , रामगोपाल द्विवेदी, पंडित उमेश द्विवेदी, कामता प्रसाद द्विवेदी , मुकेश पाठक , श्रेयांक द्विवेदी , कार्तिक द्विवेदी , आकाश द्विवेदी , आशुतोष तिवारी , पत्रकारगण सहित साधु संतगण, जनप्रतिनिधि, अधिकारी एवं बड़ी संख्या में नागरिक आदि उपस्थित थे ।

Leave a Comment