आरपीएफ ने पकड़ा एक किलो सोना

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

रतलाम। आर पी एफ ने ट्रेन के इंतजार में माल गोदाम एरिया में खड़े एक यात्री से करीब एक किलो से ज्यादा वजन के सोने के जेवरात पकड़े। यह व्यक्ति जेवरातों के कागजात नहीं दिखा पाने पर आर पी एफ ने सोना जब्त कर आयकर ओर जी एस टी विभाग को सूचना दी। जब्त किए गए सोने की कीमत करीब अस्सी लाख रुपए आंकी गई है।

आरपीएफ पुलिस के अनुसार सोने के ज्वेलरी के संबंध में संबंधित के पास से कोई बिल व रसीद हीं मिली। पूछताछ पर उसने रतलाम शहर चांदनी चौक स्थित KD ज्वेलर्स का डिलेवरी चालाना बताया। जिसमें सभी आभूषण प्रति नग व वजन के साथ चालान में इंट्री मिली। लेकिन कीमत एवं GST के संबंध में कोई जानकारी या दस्तावेज नहीं थे। पूछताछ में सामने आया है कि उक्त व्यक्ति डिलेवरी बॉय है। रतलाम से जबलपुर के अलग-अलग ज्वेलर्स के यहां डिलेवरी करने जा रहा था।

आर पी एफ रतलाम की सी पी डी एस टीम के हैड कांस्टेबल अजयराव बाविस्कर, कांस्टेबल प्रमोद कुमार शर्मा व कांस्टेबल विपिन मेहता द्वारा बीती रात को करीबन 12:30 बजे रतलाम स्टेशन पुराना माल गोदाम एरिया में बनी लिफ्ट के पास से एक व्यक्ति को शंका के आधार पर रोक कर पूछताछ करने पर उसने अपना नाम भगवान सिंह पिता भूर सिंह, निवासी हाल मुकाम 31/2, वेद व्यास कॉलोनी, रतलाम बताया। उसके पास काले रंग के पिट्ठू बेग के बारे में पुछने पर पिट्ठू बेग में सोने के जेवरात होना बताया। उक्त व्यक्ति को आर पी एफ थाने पर लेकर आए जहां उसके कब्जे से पिट्ठू बेग को खोला और 02 प्लास्टिक के बॉक्स (01 बॉक्स पर गोल्डन टेपिंग की हूई तथा दूसरा सफ़ेद रंग का) निकाले जिन्हे खोलने पर उनमे सोने के जेवरात पाए गए। सभी जेवरात सोने के होना बताया जिसकी अनुमानित कीमत लगभग 80,000,00/- (अस्सी लाख) रूपये की होना पाया गया । उक्त सोने के जेवरात के बिल/रसीद आदि बाबत पुछने पर खरीदी संबंधी कोई बिल/रसीद प्रस्तुत नहीं की गई लेकिन उसने रतलाम शहर चाँदनी चौक स्थित के डी ज्वेलर्स का डिलीवरी चालन प्रस्तुत किया। लेकिन सामानों की कीमत एवं GST आदि बाबत कोई उल्लेख नहीं होना पाया गया । पश्चात उक्त सामान को रेलवे में गलत तरीके से परिवहन करने के कारण शंका के आधार पर रूबरू पंचान जप्त कर कब्जे RPF लिया गया एवं अग्रिम कार्यवाही हेतु आयकर विभाग रतलाम व इंदौर एवं सी.जी.एस.टी. एवं केंद्रीय उत्पाद शुल्क,प्रभाग को अवगत कराया गया।

 

Leave a Comment

[democracy id="1"]