अनूपपुर: महाराणा प्रताप : वीरता, साहस, और देशभक्ति के प्रतीक” – डॉ जे.के. संत

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

महाराणा प्रताप : वीरता, साहस, और देशभक्ति के प्रतीक” – डॉ जे.के. संत

अनूपपुर। शासकीय तुलसी महाविद्यालय अनूपपुर में महाराणा प्रताप जयंती के अवसर पर ‘ वीरता का उत्सव : महाराणा प्रताप जयंती’ विषय पर 9 मई 2024 को संगोष्ठी का आयोजन किया गया ,इस अवसर पर महाविद्यालय के विद्यार्थियों एवं शैक्षणिक स्टाफ द्वारा भारतीय इतिहास के इस महान वीर योध्दा को याद किया गया और उनके योगदान को सराहा गया। कार्यक्रम का आयोजन महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. जे. के. संत के मार्गदर्शन में संपन्न हुआ। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे आंतरिक गुणवत्ता आश्वासन प्रकोष्ठ के प्रभारी डॉ. देवेंद्र सिंह बाघरी ने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि यह संगोष्ठी न केवल हमें हमारे इतिहास के महत्वपूर्ण प्रमुख तथ्यों को याद दिलाने में मदद करती है, बल्कि हमें आत्म-उत्साह और समर्थन भी प्रदान करती है।
महाराणा प्रताप जयंती पर महाविद्यालय के विद्यार्थियों जिसमें मृदुल दास एम.ए. तृतीय सेम., साक्षी पटेल एम.ए.तृतीय सेम. साक्षी विश्वकर्मा बी.ए. प्रथम वर्ष, माया चौधरी बी.ए. प्रथम वर्ष, प्रियांशु अग्रवाल बी.ए. द्वितीय वर्ष द्वारा ‘वीरता का उत्सव : महाराणा प्रताप जयंती’ विषय पर महाराणा प्रताप के युद्धक्षेत्र में वीरता की भावना को उनके उदाहरणों के माध्यम से प्रस्तुत किया गया। कार्यक्रम का संयोजकत्त्व प्रो. पूनम धांडे सहायक प्राध्यापक इतिहास द्वारा किया गया। पूनम धांडे सहायक प्राध्यापक इतिहास ने महाराणा प्रताप के वीरता, साहस, और दृढ़ संकल्प को याद करते हुए, इस संगोष्ठी के माध्यम से उनके विचारों और आदर्शों को मानवता के लिए एक प्रेरणास्त्रोत बताया। महाविद्यालय के समस्त स्टाफ एवं विद्यार्थियों की कार्यक्रम को सफल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका रही।

Leave a Comment

[democracy id="1"]