अमरकंटक महाशिवरात्रि पर्व के अवसर पर लगेगा पांच दिवसीय मेला

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

अमरकण्टक मे मेले की तैयारियों के संबंध में कलेक्टर ने बैठक कर व्यवस्थाओं के संबंध में दिए दिशानिर्देश

अमरकंटक।  आगामी 8 मार्च को महाशिवरात्रि पर्व के पावन अवसर पर जिले की पवित्र नगरी अमरकंटक में 7 से 11 मार्च तक 5 दिवसीय महाशिवरात्रि मेला आयोजित किया जाएगा । अमरकंटक में वर्षों से परम्परागत रूप से महाशिवरात्रि पर्व सम्पूर्ण भव्यता के साथ आयोजित किया जाता रहा है। जिसके परिप्रेक्ष्य में इस वर्ष भी मेला का आयोजन किया जाएगा । इस संबंध में आवश्यक तैयारियों एवं व्यवस्थाओं के संबंध में अमरकंटक स्थित सर्किट हाऊस सभाकक्ष में कलेक्टर श्री आशीष वशिष्ठ की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन किया गया । बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री तन्मय वशिष्ठ शर्मा , अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री शिवकुमार सिंह , एसडीएम पुष्पराजगढ़ श्री दीपक पाण्डेय , नगर परिषद अमरकंटक की अध्यक्ष श्रीमती पार्वती सिंह उइके , उपाध्यक्ष एडवोकेट रज्जू सिंह नेताम , पार्षदगण , मंदिर तथा आश्रमों के प्रतिनिधि , तहसीलदार श्री अनुपम पाण्डेय, जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एस.के. बाजपेयी, मुख्य नगरपालिका अधिकारी अमरकंटक श्री चैन सिंह परस्ते, पार्षदगण सहित स्थानीय गणमान्य नागरिक, विभिन्न विभागों के जिला प्रमुख अधिकारी उपस्थित थे।
बैठक में महाशिवरात्रि पर्व पर आयोजित मेले में मेला ग्राउण्ड की व्यवस्था, कन्ट्रोल रूम की स्थापना, कार्यपालन दण्डाधिकारियों की ड्यिटी, कानून व्यवस्था, वाहन पार्किंग, यात्री कर, सफाई व्यवस्था, प्रदर्शनी तथा सांस्कृतिक कार्यक्रम, स्वास्थ्य, पेयजल, अलाव, मूत्रालय एवं शौचालय, प्रकाश व्यवस्था, प्रदूषण नियंत्रण, फायर ब्रिगेड, क्रेन, एम्बुलेंस की व्यवस्थाओं के संबंध में विस्तारपूर्वक चर्चा कर बिन्दुवार जिम्मेदारी अधिकारियों को सौंपी गई। कलेक्टर श्री आशीष वशिष्ठ ने मेले में आने वाले श्रद्धालुओं के भीड़ नियंत्रण के लिए आवश्यक व्यवस्थाओं के संबंध में अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मेले के लिए विद्युत, कानून व्यवस्था, पेयजल, स्वास्थ्य व्यवस्था तथा अन्य आवश्यक सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जांए। सम्पूर्ण मेला क्षेत्र में पॉलीथीन का उपयोग न हो यह भी अधिकारी सुनिश्चित करें। प्लास्टिक के इस्तेमाल पर प्रतिबंध से संबंधित साईन बोर्ड लगाए जांए। नर्मदा नदी में स्नान करने वालों के लिए स्थान निर्धारित कर लाईफ जैकेट के साथ होमगार्ड के आपदा मोचन दल की तैनातगी की जाए। बैठक में मां नर्मदा मंदिर परिसर में दर्शनार्थियों की सुविधा के लिए रेलिंग की व्यवस्था सुनिश्चित करने तथा अमरकंटक क्षेत्र में खाद्य गुणवत्ता के लिए फूड सेफ्टी की टीम के द्वारा खाद्य पदार्थों की सैम्पलिंग किए जाने के निर्देश दिए।

Leave a Comment

[democracy id="1"]