धर्मांतरण कराने वाले 7 आरोपियों को मंडीदीप पुलिस ने गिरफ्तार कर भेजा कोर्ट

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

रायसेन। जिले के औद्योगिक नगरी मंडीदीप के सतलापुर थाने की पुलिस ने धर्मांतरण करने वाले सात आरोपियों को अलग-अलग स्थानों से गिरफ्तार कर गौहरगंज कोर्ट में पेश किया गया जहां कोर्ट ने सातों आरोपियों को जेल भेजने के आदेश दिए हैं। धर्मांतरण के मामले को लेकर हिंदूवादी संगठन के लोग भड़क उठे।सतलापुर थाने का घेराव कर जमकर नारेबाजी की।हालांकि सतला पुर थाने की पुलिस दोनों पक्ष से आवेदन लेकर मामले को रफादफा करना चाह रही थी लेकिन हिंदूवादी संगठनों के लोग भड़क गए।जिद पकड़ ली।समाजसेवी सुरेश यादव ने बताया कि प्रेम सिंह नाहर के घर ईसाई मिशनरी के लोगों द्वारा प्रार्थना सभाएं लगती हैं और धार्मिक साहित्य भी वितरित लंबे समय से वितरित किए जाते हैं।
थाना प्रभारी महेंद्र सिंह ने बताया कि धर्मांतरण के मामले में फरियादी नरेंद्र सिंह ठाकुर की रिपोर्ट पर पुलिस द्वारा सभी सातों आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।इन आरोपियों में दो महिलाएं और पांच पुरुष शामिल हैं।सतलापुर पुलिस ने सभी को गिरफ्तार करके गौहरगंज की कोर्ट में पेश किया था ।कोर्ट ने दोनों महिला आरोपियों संतरा सोनवानी और उमा चौधरी को जिला जेल पठारी रायसेन भेजा गया है ।
जबकि पांचो पुरुष आरोपी चंदूलाल सोनवानी ,विजय चौधरी ,प्रदीप बंसल कैलाश बंसल एक अन्य को गौहरगंज कोर्ट में पेश किया गया।जहां से सभी को उप जेल गौहरगंज भेजने के आदेश दिए हैं ।हम आपको यह बता दें कि सतलापुर थाना क्षेत्र में रविवार को ईसाई मिशनरी से जुड़े सात लोगों द्वारा नरेंद्र सिंह ठाकुर और समीर को पैसों का लालच देकर धर्म परिवर्तन कराया जा रहा था ।इस मामले को लेकर थाने में बड़ा बवाल मच गया था। ईसाई धर्म के लोग वकीलों को लेकर थाने पहुंचे तो हिन्दूवादी और ईसाई धर्म के लोगों के बीच और जमकर हंगामा हुआ ।
रायसेन के पटेल नगर में भी मामला
रायसेन शहर की गरीब अयोध्या बस्ती वार्ड 11 में जिसे पटेलनगर के नाम से जाना जाता है।यहां एक फर्नीचर बनाने वाले के घर एक बाहर का व्यक्ति कमरा किराए पर लेकर गरीबों को बुलाकर धार्मिक साहित्य कर रहा है।ऐसे शख्स पर भी पुलिस को कार्यवाही करना चाहिए।

Leave a Comment

[democracy id="1"]