खाद्य पदार्थों में मिलावट करने वालों पर प्रशासन की कार्यवाही

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

टीम ने कई यूनिटों पर लिए सैंपल, 3 को किया सील

शिवपुरी। खाद्य पदार्थ में मिलावट करने वालों के विरुद्ध प्रशासन सख्त है। कलेक्टर रवींद्र कुमार चौधरी ने एसडीएम, तहसीलदार को टीम के साथ निरीक्षण के निर्देश दिए हैं। जिसमें खाद्य पदार्थ, मावा, मसाले, तेल घी, दूध आदि में मिलावट की जांच की जा रही है।
राजस्व और खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम ने मिलकर निरीक्षण किया और एक तेल फैक्ट्री, बड़ोदी स्थित आइस फैक्ट्री और एक मसाला गोदाम को सील किया गया है।
प्राप्त जानकारी अनुसार टीम द्वारा इंडस्ट्रियल एरिया एवं बदौड़ी स्थित विभिन्न गोदाम का निरीक्षण किया जिसमें टोस्ट फैक्ट्री, मसाला, तेल की जांच की गई। बडोदी स्थित हरिओम आइस फैक्ट्री पर मावा घी पनीर का सैंपल लिया और अमानक स्तर का लगभग 14 क्विंटल मावा जप्त कर फैक्ट्री सील की गई है। इसके अलावा महेश ऑयल प्रोडक्ट शिवपुरी मेसर्स शिवा महेश इंडस्ट्रियल एरिया शिवपुरी के प्रोडक्ट तुलसी गोल्ड ऑयल, गोल्डी ऑयल के पैकेजिंग पर एक्सपायरी डेट , पाउच की मात्रा संख्या दर्ज नहीं पाई गई जिस पर फैक्ट्री सील की गई।गुप्ता मसाले फैक्ट्री मेसर्स अजय गुप्ता के मसाला गोदाम सील करने की कार्यवाही की गई है।
टीम द्वारा खाद्य प्रतिष्ठानों के सैंपलिंग की कार्रवाई की गई। जिसमें मधुरम स्वीट्स पर कार्रवाई के दौरान इमली, मावा, खाद्य तेल के सैंपल लिए गए एवं घरेलू सिलेंडरों का व्यावसायिक उपयोग होने के कारण जूनियर आपूर्ति अधिकारी द्वारा चार घरेलू सिलेंडरों को जप्त किया गया है। प्रेम स्वीटस से मावा और देसी घी के सैंपल लिए। जैन दूध डेरी पुरानी शिवपुरी और झांसी रोड स्थित किसान मिल्क डेयरी से जांच के लिए दूध, मावा और घी के सैंपल लिए गए। बिंदल मसाला मेसर्स वृंदावन दास गुप्ता के गोदाम पर मसालों की सैंपलिंग और जप्ति की कार्यवाही की गई। जिन दुकानों पर खराब गुणवत्ता का मावा आदि मिला उसे तत्काल नष्ट किया गया। निरीक्षण के दौरान टीम ने निर्देश दिए हैं की अमानक खाद्य पदार्थ ना रखें और ना लोगों को बेचे जाएं। इसका स्वास्थ्य पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है। इसी तरह टीम द्वारा लगातार कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Comment

[democracy id="1"]