अमरकंटक के शांति कुटी आश्रम में शिमला के भक्तो की टोली सुनी रामकथा

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं


मैकल पर्वत पर शिव ने पार्वती को अमर कथा सुनाई थी – डॉ रामकृपाल त्रिपाठी ।।

अमरकंटक।श्रवण उपाध्याय। मां नर्मदा जी की उद्गम स्थली / पवित्र नगरी अमरकंटक में शिमला से पधारे सैकड़ों राम भक्तों की टोली शांति कुटी आश्रम में नौ दिवसीय राम कथा वृंदावन से पधारे राम कथा आचार्य श्री डॉ रामकृपाल त्रिपाठी पूर्व प्राचार्य श्री रंगलक्षमी आदर्श संस्कृत महाविद्यालय श्रीधाम वृन्दावन के श्रीमुख से 20 जनवरी 2024 से आज पूर्णाहुति 28 जनवरी 2024 तक रोजाना सुबह 10 बजे से दोपहर 01 बजे तक शिमला से पधारे राम भक्तो की टोली राममय वातावरण के बीच श्रीराम कथा के साथ भजन कीर्तन में नाचते गाते भाव विभोर होकर आनंद प्राप्ति की अनुभूति करते रहे । श्रीराम कथा के मुख्य यजमान शिमला से पधारीं सुश्री विमला जी राम कथा सुन खूब आनंद की अनुभूति प्राप्त की और अमरकंटक वादियों से खूब प्रभावित हो कर उन्होंने कहा की यह स्थल स्वर्ग है ।
आचार्य त्रिपाठी जी ने श्रीराम कथा मध्य कहा की अमरकंटक स्थल स्वर्ग से कम नहीं और नर्मदा मोक्ष दायनी है । आपकी भक्ति का एक एक क्षण परमात्मा से जुड़ रहा है । भगवान शिव इन्ही पर्वत में बैठ माता पार्वती को कथा सुनाया था । भोले शिव शंकर द्वारा ही राम कथा की उत्पत्ति हुई थी जो माता पार्वती को सुनाया था ।
आज रविवार को श्री राम कथा आयोजन की पूर्णाहुति हुई और भंडारा कर संत , पंडित व भक्तजन प्रसाद ग्रहण किए ।

Leave a Comment

What does "money" mean to you?
  • Add your answer