2015 में BJP में हुए शाम‍िल, 80 साल की उम्र में फ‍िर कांग्रेस में की वापसी, जानें कौन है ये नेता

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

आठ साल पहले कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शाम‍िल होने वाले ओडिशा के पूर्व मुख्यमंत्री गिरिधर गमांग ने 80 साल की उम्र में फ‍िर से पार्टी मेकं वापसी की है. वह वर्ष 2015 में कांग्रेस को छोड़कर बीजेपी में शाम‍िल हुए थे. पूर्व मुख्यमंत्री गिरिधर गामांग के अलावा पूर्व सांसद हेमा गमांग, संजय और पूर्व मुख्यमंत्री के बेटे शिशिर गमांग भी कांग्रेस में वापस लौटे हैं. कांग्रेस के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष अजय माकन और प्रभारी अजॉय कुमार की मौजदगी में चारों नेताओं ने फ‍िर से पार्टी में वापसी की है.

ओड‍िशा के कोरापुट क्षेत्र के एक प्रमुख आदिवासी नेता गिरिधर गमांग प्रदेश के मुख्यमंत्री रहने के साथ ही प्रदेश कांग्रेस कमेटी (पीसीसी) के अध्यक्ष के रूप में कार्य कर चुके हैं. गिरधर गमांग ने फ‍िर से पार्टी में वापसी करने पर सोनिया गांधी, राहुल गांधी और मल्लिकार्जुन खड़गे को धन्यवाद दिया है. उन्‍होंने कहा क‍ि कांग्रेस ने उन्‍हें 11 बार टिकट दिया था और 11 साल केंद्र में मंत्री रहा हूं. उन्‍होंने कहा क‍ि कांग्रेस सिद्धांत की राजनीति करती है. गमांग ने कहा क 7 साल से ज्‍यादा समय तक भाजपा में भी रहा हूं लेक‍िन कांग्रेस के पास जो विजन है वह अन्य दलों के पास नहीं है.

कौन है गमांग?
गमांग, 1972 से 2004 के बीच नौ बार कोरापुट लोकसभा सांसद रहे और 2015 में कांग्रेस छोड़ने के तुरंत बाद भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) में शामिल हो गए. उन्होंने पिछले साल जनवरी में बीजेपी छोड़ दी और कुछ दिनों बाद के चंद्रशेखर राव में शामिल हो गए. 1999 में गिरिधर गमांग ने मई 1999 में अटल बिहारी वाजपेयी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव में विवादास्पद रूप से मतदान किया था, हालांकि वह ओडिशा के मुख्यमंत्री थे उन्होंने फरवरी 1999 में सीएम के रूप में पदभार संभाला था, लेकिन अपनी लोकसभा सीट से इस्तीफा नहीं दिया था.

राहुल गांधी की न्‍याय की लड़ाई को म‍िलेगी मजबूती: अजय माकन
अजय माकन ने चार नेताओं की पार्टी में वापसी पर कहा क‍ि ओडिशा में कांग्रेस मजबूत होगी और देश में भी पार्टी मजबूत होगी. इससे राहुल गांधी की न्याय की लड़ाई में बल मिलेगा. पार्टी के एक नेता ने कहा कि हालांकि गमंग ने पार्टी छोड़ दी और भाजपा में शामिल हो गए, लेकिन उन्होंने सोनिया गांधी और कांग्रेस आलाकमान के खिलाफ एक भी शब्द नहीं बोला. पिछले साल अगस्त में, गमांग ने अपने बेटे सिसिर के साथ ओपीसीसी अध्यक्ष शरत पट्टनायक और कोरापुट के सांसद सप्तगिरी उलाका की उपस्थिति में ओडिशा के तत्कालीन अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) प्रभारी ए चेल्लाकुमार से मुलाकात की थी. बैठक के बाद, गमांग के बेटे सिसिर ने संवाददाताओं से कहा कि वे पहले ही कांग्रेस में शामिल होने की अपनी इच्छा बता चुके हैं.

गमांग कुछ महीने पहले बीजेपी से इस्तीफा देने के बाद के चंद्रशेखर राव के नेतृत्व वाली भारत राष्ट्र समिति (बीआरएस) में शामिल हो गए थे लेकिन उन्होंने कांग्रेस में शामिल होने का फैसला किया क्योंकि बीआरएस के पास ओडिशा के लिए ऐसी कोई तत्काल योजना नहीं है. इस बीच, ओपीसीसी अध्यक्ष शरत पटनायक ने कहा कि कांग्रेस अन्य दलों के नेताओं के साथ-साथ उन लोगों का भी स्वागत करती है जिन्होंने पिछले दिनों पार्टी छोड़ दी थी.

Tags: Congress

Source link

Leave a Comment

[democracy id="1"]