प्रदूषण एवं समस्याओं को लेकर नगर परिषद अध्यक्ष ने खोला मोर्चा

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

क्षेत्र के विकास और समस्याओं के निराकरण के प्रति ओपीएम उदासीन- गीता गुप्ता 

अनूपपुर। बरसों से संचालित कागज कारखाना ओरिएंट पेपर मिल अमलाई एवं सोडा कास्टिक यूनिट अपने उत्पाद और उत्पादन क्षमता को बढ़ाते हुए दिन दोगुनी रात चौगुनी कमाई कर रहा किंतु इनके उद्योग के द्वारा जनहित में आम जनजीवन को प्रभावित करने और पर्यावरण को प्रदूषित करने की ओर बड़ी तेजी से निरंतर अग्रसर रहे हैं यही नहीं इनके उद्योग के अंदर कार्यरत मजदूर के साथ भी उनके रोजगार के मुख्य साधन में शासन प्रशासन के द्वारा निर्धारित मजदूरी भुगतान में घपलत की जाती रही है और सुरक्षा उपकरणों सुरक्षा इंतजामो की कमी के कारण आए दिन इस उद्योग में कार्य कर रहे कर्मचारी श्रमिक मजदूर दुर्घटना के शिकार होते रहे हैं। बार-बार समाचार पत्र के माध्यम से अवगत कराने के अलावा क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों के द्वारा लिखित रूप से सड़कों की दुर्दशा को लेकर उनके सुधार के लिए पत्र लिखे जा चुके किंतु उद्योग प्रबंधन को इस क्षेत्र के जनता की समस्याओं से कोई लेना-देना नहीं उन्हें सिर्फ अपने उद्योग के उत्पादन की ओर अग्रसर रहना इनकी प्राथमिकता है।
नगर परिषद बरगवां अमलाई की नगर परिषद अध्यक्ष श्रीमती गीता गुप्ता ने कहा कि कई वर्षों से इन उद्योगों के द्वारा यहां के लोगों को विकास और जनहित के कार्य की ओर अग्रसर ना करते हुए सिर्फ और सिर्फ प्रदूषण सड़कों की समस्या पेयजल की समस्या इनके उद्योग में लगी बड़ी-बड़ी चिमनियों से निकलने वाला जहरीला धुआं आम जनजीवन को एवं स्थानीय जनों को प्रभावित करता रहा है ओरिएंट पेपर मिल के द्वारा आज से 40 45 वर्षों पूर्व डामरीकरण सड़क का निर्माण कार्य कराया गया था जो आज की स्थिति में अपनी जर्जर अवस्था गड्ढे में परिवर्तित जहां लोगों को आने-जाने में कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है बरसात के समय में तो यहां से गुजरना दुर्घटना को आमंत्रण देने के जैसा अस्त-व्यस्त अवस्था में बेतरतीब वाहनों का खड़ा होना। इस क्षेत्र के रह वासियों के लिए मुख्य मार्ग है जहां से लोगों को मार्केट जाने अस्पताल जाने स्कूल जाने बैंक कार्य के लिए एवं अन्य कार्यों के लिए आने-जाने का एक मुख्य मार्ग है किंतु बीते वर्षों में उद्योग के द्वारा जनहित के कार्यों के प्रति उदासीन रवैया अख्तियार करते हुए जर्जर सड़क की समस्या को सुधारने का प्रयास नहीं किया गया जबकि इनके द्वारा उद्योग स्थापना को लेकर इस क्षेत्र के बसी आबादी को मूलभूत एवं बुनियादी सुविधाएं प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है किंतु इन दोनों उद्योगों ने इस क्षेत्र के विकास को बहुत पीछे की ओर धकेल दिया।

Leave a Comment

[democracy id="1"]