November 30, 2022 10:50 pm

VIDEO: मिलिए आर्मी के डॉग जूम से, जिसने 2 गोलियां लगने के बाद भी

Traffictail

हाइलाइट्स

भारतीय सेना का हमलावर कुत्ता ‘जूम’ एक अभियान में गंभीर रूप से घायल हो गया.
2 गोलियां लगने के बाद भी जूम आतंकवादियों के खिलाफ डटा रहा.
श्रीनगर के आर्मी वेटनरी अस्पताल में जूम का इलाज चल रहा है.

श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले के कोकरनाग इलाके में एक ऑपरेशन में आतंकवादियों से लड़ते हुए भारतीय सेना का हमलावर कुत्ता ‘जूम’ गंभीर रूप से घायल हो गया. 2 गोलियां लगने के बाद भी वह आतंकवादियों के खिलाफ डटा रहा. भारतीय सेना के चिनार कॉर्प्स के आधिकारिक ट्विटर हैंडल ने ‘तांगपावा’ नाम के ऑपरेशन का विवरण शेयर किया. सेना ने कहा कि दो आतंकवादियों का इस ऑपरेशन में सफाया कर दिया गया, जबकि सेना के डॉग जूम को 2 गोलियां लगीं. सेना के हमलावर डॉग का फिलहाल श्रीनगर के आर्मी वेटनरी अस्पताल में इलाज चल रहा है.

सर्जरी के बाद आर्मी के डॉग जूम की हालत स्थिर है. उनके टूटे हुए पिछले पैर में प्लास्टर हो गया और चेहरे पर चोटों का इलाज किया गया. अगले 24-48 घंटे उसके लिए गंभीर हैं. डॉक्टरों का एक दल उसकी निगरानी कर रहा है. भारतीय सेना ने अपने ‘बहादुर कुत्ते’ जूम का एक वीडियो भी शेयर किया. जिसे आतंकवादियों का पता लगाने और उन्हें पकड़ने के लिए प्रशिक्षित किया गया है. वीडियो में जूम के बारे में कहा गया है कि वह बहुत प्रशिक्षित, निडर और प्रतिबद्ध है. आतंकवादियों का पता लगाने और उन्हें पकड़ने के लिए प्रशिक्षित किया गया जूम सेना के अभियानों का हिस्सा रहा है. वीडियो में उस ऑपरेशन का विवरण भी दिया गया है, जिसमें जूम गंभीर रूप से घायल हो गया.

सेना ने कहा कि 10 अक्टूबर की सुबह अनंतनाग के कोकरनाग में एक ऑपरेशन शुरू हुआ. ऑपरेशन में जूम को उस घर को खाली करने का काम सौंपा गया था, जहां आतंकवादी छिपे हुए थे. जूम ने आतंकवादियों की पहचान की और उन पर हमला किया. जिसके दौरान उसे दो गोलियां लगीं. भारतीय सेना ने कहा कि गंभीर चोटों के बावजूद जूम ने अपना काम जारी रखा. जिसके कारण दोनों आतंकवादियों का सफाया हो गया.

PHOTOS: आतंकियों से लोहा लेते हुए Axel ने गंवाई जान, इस बहादुर Army Dog को लगी थीं 3 गोलियां

गौरतलब है कि इस साल जुलाई में सेना के एक अन्य कुत्ते ‘एक्सल’ ने कश्मीर घाटी में एक आतंकवाद विरोधी अभियान में अपनी जान गंवा दी थी. उसे स्वतंत्रता दिवस पर मरणोपरांत वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया गया. 30 जुलाई को एक ऑपरेशन के दौरान एक आतंकी को 7.62 एमएम की एके-47 राइफल पकड़े देख एक्सल ने कूदकर उस पर हमला कर दिया. आतंकवादियों ने बहादुर कुत्ते को गोली मार दी. घायल होने के बावजूद उसने फिर से हमला करने की कोशिश की. लेकिन बहुत ज्यादा खून बहने के कारण नीचे गिर गया और उसकी मौत हो गई.

Tags: Indian army, Jammu and kashmir, Terrorists



Source link

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?