November 30, 2022 10:58 pm

Human sacrifice in Kerala: रेस्टोरेंट मालिक के कहने पर दी बलि, यौवन बचाने के लिए खाया था मांस

Traffictail

हाइलाइट्स

केरल में मानव बलि के मामले में दो महिलाओं को उतारा गया मौत के घाट
लाटरी बेचने वाली दो महिलाओं की हत्या करके शवों को गांव में दफनाया गया
जवानी बचाये रखने के लिए आरोपियों ने खाया मृतक महिलाओं का मांस

तिरुवनंतपुरम. केरल में मानव बलि के मामले में कई और चौंकाने वाली जानकारी निकल कर सामने आ रही हैं, जहां दो महिलाओं को काले जादू के नाम पर मौत के घाट उतार दिया गया. इस मामले में एक दंपति समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है. गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान स्थानीय मसाज थेरेपिस्ट भगवल सिंह, उनकी पत्नी लैला और रेस्टोरेंट मालिक रशीद उर्फ ​​मुहम्मद शफी के रूप में हुई है. पुलिस के अनुसार पूछताछ में आरोपियों ने बताया है कि वित्तीय मुद्दों को सुलझाने और उनके जीवन में समृद्धि लाने के लिए कथित तौर पर बलि दी गई थी.

जवान बने रहने के लिए खाया मानव मांस
पुलिस ने मृतकों के कटे हुए शरीर के अंगों को मंगलवार को पठानमथिट्टा गांव में दंपति के घर के परिसर से बरामद किया है. जांच के दौरान आरोपियों ने बताया कि दंपति को ​​मुहम्मद शफी ने बताया कि पके हुए मानव शरीर के अंगों को खाने से उन्हें अपनी जवानी को बचाने में मदद मिलेगी. न्यूज़ 18 को मिली जानकारी के अनुसार आरोपी लैला ने हत्या के विवरण की गवाही दी है जिसमें काले जादू के हिस्से के रूप में मानव बलि के बाद पीड़ितों का मांस खाया गया था. इस दौरान एक पीड़िता रोजली की पसलियों का मांस काट दिया गया था.

साथ ही पूछताछ में यह भी सामने आया है कि मानव बलि का मास्टरमाइंड शफी था जिसके कहने पर दंपति ने इतने क्रूर कृत्य को अंजाम दिया था. शफी ने ही दंपति को सुझाव दिया था कि मानव शरीर के अंगों को खाने से उनका यौवन सुरक्षित रहेगा.

लॉटरी टिकट बेचती थीं महिलाएं
न्यूज एजेंसी एएनआई की एक खबर के मुताबिक कोच्चि शहर के पुलिस आयुक्त सीएच नागराजू ने कहा कि ये मृतक दोनों महिलाएं लॉटरी टिकट बेचती थीं. उनकी हत्या करने के बाद शवों को एक घर में दफना दिया गया. जिन महिलाओं की हत्या की गई उनकी पहचान पद्मा और रोजली के रूप में हुई है.

Tags: Human Sacrifice, Kerala

Source link

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?