September 27, 2023 9:39 am

हैकर्स ने उड़ा दी लाड़ली बहना की राशि

Traffictail

अब बहना ने लगाई मुख्यमंत्री शिवराज सिंह गुहार

बहना बोली- सीएम शिवराज मेरी मदद करो

शिवपुरी। रंजीत गुप्ता। शिवपुरी में लाडली बहना योजना के तहत एक महिला हितग्राही को मिली एक हजार रुपए की राशि को हैकर्स ने महिला के खाते से उड़ा दिया है। खाते से राशि गायब होने के बाद अब महिला ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से गुहार लगाई है कि उसकी मदद की जाए और उसे राशि दोबारा से दिलाई जाए। महिला ने इस मामले में बैंक में भी शिकायत की लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई है। अब महिला ने पुलिस थाने में रिपोर्ट दर्ज कराने की बात कही है।

दूसरे दिन हो गई खाते से राशि गायब-

शिवपुरी शहर की दर्पण कॉलोनी में रहने वाली महिला रंजीता पुरी पत्नी संजय पुरी ने बताया कि उन्हें लाडली बहना योजना के तहत एक हजार रुपए की राशि प्राप्त हुई थी। उनके बैंक ऑफ इंडिया शाखा माधव चौक शिवुपरी में एक हजार रुपए की राशि उनके खाते में प्राप्त हुई थी जिसका एसएमएस 11 जून को उनके मोबाइल पर प्राप्त हुआ था। महिला ने बताया कि एसएमएस आने के बाद उन्हें खुशी हुई थी कि उन्हें एक हजार रुपए की राशि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा प्राप्त हुई है लेकिन दूसरे ही दिन उन्हें दूसरा एसएमएस प्राप्त हुआ जिसमें उन्हें उनकी राशि निकलना बताया गया। उनके खाते से एक हजार रुपए की राशि अचानक निकल गई।

हैकर्स ने पहले भी खाते से उड़ा दी थी राशि-

अचानक राशि निकल जाने के बाद वह बैंक में पहुंची और यहां पर बैंक में शिकायत दर्ज कराई लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं हुई। उन्होंने बताया कि उनके खाते से हैकर्स ने उनका यह पैसा उड़ा दिया है। महिला रंजीता पुरी ने बताया कि कुछ महीनों पहले भी उनके साथ एक फ्रॉड हुआ था जिसमें उनका एटीएम बदलकर एक शख्स ने उनके खाते से 57 हजार रुपए की राशि निकाल ली थी इसकी शिकायत उन्होंने पुलिस अधीक्षक और फिजिकल थाने पर की थी लेकिन इसके बाद यह राशि उन्हें प्राप्त नहीं हुई और उन्होंने अपना एटीएम चोरी जाने के बाद बैंक में आवेदन देकर इसे बंद कराया था। तब बैंक वालों ने कहा था कि अब आपका एटीएम बंद हो गया है लेकिन मुझे लगता है कि यह एटीएम बंद नहीं हुआ था और चालू है। संभवत: इसी शख्स ने यह राशि निकाली है। अब परेशान महिला ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से गुहार लगाई है कि उक्त मामले में कार्रवाई करते हुए इस हैकर्स का पता लगाया जाए और कार्रवाई की जाए। साथ ही इस लापरवाही पर संबंधित बैंक पर भी कार्रवाई हो।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
  • Add your answer