May 31, 2023 9:35 am

अनूपपुर: 22 मई को ग्राम बैरिहा के लोग अपनी आठ 8 मांगो को लेकर करेगे उग्र आंदोलन- अखिलेश त्रिपाठी

Traffictail

अनूपपुर। सोहागपुर एरिया अंतर्गत रामपुर बटुरा खुली खदान अपने चरम पर तेजी गति से कोयला हो रहा डिस्पैच, वहीं दूसरी तरफ हतोत्साहित किसानों का सब्र का बांध टूटा, बैरिहा गांव के ही कृषक वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता अखिलेश त्रिपाठी ने बताया इन दिनों कोयले को लेकर तेजी लाई गई है।
*ग्राम बैरिहा के लोगों ने रखी हैं अपने मुख्य मुख्य मांगे*

1 महोदय रामपुर बटुरा मेगा प्रोजेक्ट चालू होने से ग्राम बैरिहा की जो खेती होती थी लगा तार 100प्रतिशत से 60 प्रतिसत होगई है जो की भविष्य के लिए बहुत ही चिंता का विषय बना हुआ है महोदय खेती के लिए पानी का उचित सहायता प्रदान करवाने का प्रयास करने का कास्ट करे
2 महोदय मेगा प्रोजेक्ट चालू होने से ग्राम बैरिहा में काफी ज्यादा प्रदूषण फैल रहा है प्रदूषण के कारण लगातार मवेशी जो चारा चरते है काफी बीमारी के कारण मृत्यु हो रही है जिनके पशुओं को मृत्यु हुई है उनकी लिस्ट बनाकर उचित सहायता राशि प्रदान करवाए
3 महोदय मेगा प्रोजेक्ट चालू होने से लगातार ब्लास्टिंग होने के कारण कई घरों में दरार पढ़ गई है एवम कई घर गिर गए है यहा तक जी सरकारी स्कूल में भी काफी दरार पड़ गई है जो की अनहोनी को निमंत्रण दे रहा है किसी दिन कोई भी हादसा हो सकता है महोदय जिनके घर मकान को छती पहुंची है उसकी जांच हो और उचित सहायता राशि प्रदान करे
4 महोदय मेगा प्रोजेक्ट चालू होने से ब्लास्टिंग के कारण पानी का जल इस्तर काफी नीचे चला गया है जिसको लेकर ग्रामीण काफी परेशान है कुआ बोर आदि सब सुख गए है जिसके कारण पीने का पानी भी नसीब नही है ग्रामीण लोग नदी का गन्दा पानी पीने को मजबूत है जिसके कारण ग्राम बैरिहा में इन दिनों बीमारी काफी फैल रही है जिसका जबाबदार एसईसीएल है कैंप लगा कर प्रति माह लोगो का चेतन या हेल्थ कार्ड बनाए एवम ग्राम बैरिहा को पीने पानी प्रदान करवाए
5 महोदय मेगा प्रोजेक्ट चालू होने से बैरिहा से रामपुर को जो प्रधान मंत्री सड़क थी उसे भी एसईसीएल द्वारा बैरियल लगा कर रोक दिया गया है यहां तक कि यदि कोई गंभीर बीमार है तो हैस्पिटल लेजाने से पहले ही बैरयाल के पास ही उसकी मौत होजाएगी इतना भारी वाहन चलते है की बैरियल ही पार नही कर बाते है महोदय बैरीह गवा पहाड़ के तीन तरफ से घिरा हुआ है ग्रामीणों का कहना है की हमे एसईसीएल रास्ता बनाकर प्रदान किया जाए
6 महोदय ग्राम बैरिहा आदिवासी बहुल इलाके से आता है जो की पेशा एक्ट लागू है लेकिन पेशा एक्ट का कोई भी नियमो का पालन नहीं किया जा रहा है
7 महोदय जो भी प्राइवेट कंपनी आकर मेगा प्रोजेक्ट में कार्य कर रही है चाहे कोई भी कंपनी हो वह ग्राम बैरिहा के लोगो को रोजगार प्रदान करे और जो नियम है मइंश के नियम से पेमेंट एवम समय का प्रबंध करे जो जिसलायक उसे उस प्रकार का रोजगार प्रदान करे एवम जोभी पेटी कांटेक्ट वाली कंपनी है वो अपना मेष स्वयं चलते है जिस प्रकार चेनाराम जी ने अपना मेष बैरिहा के लोगो को दिए है उसी तरह जो भी प्राइवेट कंपनी है वो अपना मेष ग्राम बैरिहा के लोगो के दे ताकि रोजगार बढ़ सके
8 महोदय ग्राम बैरिहा में पुस्तैनी पट्टा होने के बावजूद भी पट्टे की जमीन पर मुनारा बना दिया गया है जो की फारेस्ट विभाग द्वारा लगातार किसानों को परेशान किया जाता है जिससे ग्रामीण परेशान है लोग अपने खेत में मिट्टी तक नही डलवा सकते है कई बार ग्रामीण लोगो ने 181में शिकायत भी दर्ज करवाया लेकिन आज दिनांक तक नही कोई फैसला हुआ ग्रामीणों का कहना है की हम कई बार फारेस्ट विभाग में आवेदन दे चुके हैं लेकिन कोई भी सुनवाई नही हुई है ग्रामीणों का कहना है कि हमारे खेत से मुनारा हटाया जाएगा या हमारे खसरे नंबर में पैकिंग काट दिया जाय ताकि हम अपना खेत बनवासके
*15तारिक दिन मंगल वार को दिया गया था ज्ञापन एक हपते का था टाइम*
सामाजिक कार्यकर्ता सामाजिक कार्यकर्ता एवं कृषक अखिलेश त्रिपाठी ने बताया कि हम लोगो ने मंगल वार को सभी विभाग में ज्ञापन दिए थे लेकिन आज तक कोई भी हमारे गांव में नही आए है न तो कोई भी संपर्क नही कई है जिसको लेकर ग्रामीणों ने अपना आंदोलन का रास्ता बना लिया है

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?
  • Add your answer